मोदी जी की ये बाईपास सर्जरी सुनहरे शब्दो से इतिहास मे दर्ज होगी

1968 से पहले दिल की धमनियों मे रुकावट लाइलाज़ बीमारी थी। उस वक्त की बॉलीवुड़ फिल्मो में किसी ना किसी की दिल की बीमारी से मौत हो ही जाती थी। 1968 में अमेरिका में अर्जेन्टीना मूल के Dr. René Gerónimo Favaloro ने बाईपास सर्जरी की ख़ोज़ की। Dr. Favaloro ने धमनियो मे अवरोधो को बाईपास करके खून के सामान्य बहाव को को पक्का किया। बाईपास सर्जरी का आज भी उतनी ही कारगर है।.......


अगस्त 1944 में दूसरे विश्व युद्ध के दौरान एक समय ऐसा आया जब मित्र देशो की सेनाओ का आगे बढना रुक गया। ऐसे मे General George Patton ने रणनीति को बदला और बेल्जियम में जर्मनी की मजबूत किलेबन्दी को बाईपास करते हुए तेजी से राईन नदी को पार करते हुए जर्मनी मे प्रवेश किया। ये बाईपास की रणनीति इतिहास में दर्ज हो गयी।

सरकार बनने से अब तक मोदी को सबने पानी पी पी कर कोसा... 'दामाद जी अब तक क्यू बाहर है' 'काले धन का क्या हुआ'...... मोदी जी ने सबको बाईपास करते हुए अपना लक्ष्य हासिल किया और कर रहे है। मजबूत Economy, काले धन पर रोक और दामाद जी, सासू माँ कोई पूछने वाला नही..........

ये बाईपास भी सुनहरे शब्दो से इतिहास मे दर्ज होगा

नोट: यह पोस्ट Himanshu Sharma की फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है. इस पोस्ट के सभी अधिकार इसके मूल लेखक Himanshu Sharma के अधीन हैं तथा ज्ञानवाणी ने केवल इसे साभार प्रकाशित किया है। इसके पुनः प्रकाशन या कॉपी पेस्ट के लिए मूल लेखक की पूर्व अनुमति आवश्यक है। मूल पोस्ट https://www.facebook.com/permalink.php?story_fbid=10209196051153117&id=1075785637

Comments